राहुल गांधी की बार-बार फजीहत हो जाती है! केंद्र सरकार को बेरोजगारी और महंगाई के मुद्दे पर घेरने वाले कांग्रेस नेता राहुल गांधी के साथ अक्सर ही ऐसा कुछ हो जाता है कि उनका सामूहिक मजाक बन जाता है। इसके चलते वह विरोधियों और ट्रोलर्स के निशाने पर आसानी से आ जाते हैं। अब ताजा मामला मंच पर राष्ट्रगीत बजाने को लेकर सामने आया है। दरअसल, भारत जोड़ो यात्रा के दौरान महाराष्ट्र में राहुल गांधी का कार्यक्रम था। राहुल गांधी मंच से राष्ट्रगीत बजाने के लिए कहते हैं, लेकिन यहीं एक बहुत बड़ी गड़बड़ हो जाती है। भारत के राष्ट्र गीत की जगह नेपाल का राष्ट्रगान बजने लगता है। लेकिन राहुल गांधी को थोड़ी देर बाद महसूस होता है कि यह हमारे देश का राष्ट्रगीत नहीं बज रहा। जिसके बाद उन्होंने मंच पर पास खड़े नेताओं से इसे बंद करने के लिए कहा। यह पहला मौका नहीं है जब राहुल की सामूहिक फजीहत हुई है, इससे पहले भी कई बार विरोधियों को उनका मजाक बनाने का मौंका मिल चुका है।

राहुल गांधी और कुछ कांग्रेस नेता मंच पर खड़े हैं। इसी दौरान राहुल पास में खड़े नेता से राष्ट्रगीत बजाने के लिए कहते हैं। इसके बाद सभी सावधान की मुद्रा में खड़े हो जाते हैं, लेकिन गलती से नेपाल का राष्ट्रगान बजने लगता है। हालांकि राहुल तुरंत इशारा कर नेताओं को उसे रोकने के लिए कहते हैं और उसकी जगह राष्ट्रगीत बजाने के लिए कहते हैं।कांग्रेस की महंगाई के खिलाफ हल्ला बोल रैली थी। राहुल मोदी सरकार के खिलाफ आवाज बुलंद कर रहे थे। 2014 में पेट्रोल प्राइस, गैस की कीमत, दूध के भाव कितने थे, राहुल इस पर लोगों तो बता रहे थे। राहुल ने कहा कि 2014 में LPG गैस सिलिंडर की कीमत 410 रुपये थी जो 2022 में 1050 रुपये है, पेट्रोल और डीजल 2014 में 70 और 55 रुपये लीटर था जो आज 100 और 90 रुपये लीटर है। वहीं दूध 35 रुपये लीटर था जो आज 60 रुपये लीटर हो गया है। इसी बीच राहुल ने कहा कि आटा 2014 में 22 रुपये लीटर था जो आज 40 रुपये लीटर है। इस बात पर राहुल की जमकर फजीहत हुई।

हाल में लद्दाख में चीनी सैनिकों के घुसपैठ और भारतीय जमीन पर कब्जे के दावे को लेकर राहुल गांधी ने एक वीडियो ट्वीट किया था। अपने आधिकारिक ट्वीटर हैंडल से साझा किए गए वीडियो में राहुल गांधी की ओर से दावा किया गया था कि चीन ने लद्दाख के कई इलाकों पर अवैध रूप से निर्माण कर लिया है, लेकिन वीडियो में नजर आ रहे लोगों के चलते इस पूरे प्रोपगेंडे का खुलासा हो गया। दरअसल जिन लोगों को ‘आम आदमी’ बताकर राहुल गांधी ने शेयर किया है, असल में वो सभी कांग्रेसी कार्यकर्ता और स्थानीय कांग्रेसी नेता थे। इसके अलावा वीडियो में कुछ लोग ऐसे भी थे, जो लद्दाख से संबंध ही नहीं रखते थे। इस वीडियो ट्वीट पर भी राहुल गांधी की खूब फजीहत हुई।

राहुल गांधी ने इसके बाद एक और बयान देकर अपनी फजीहत करवाई थी। महाराष्ट्र की आर्थिक राजधानी मुंबई के नार्सी मुंजी संस्थान में राहुल छात्रों को संबोधित कर रहे थे कि तभी उन्होंने कहा कि एक दिन आप इस देश को चलाएंगे, संस्थानों पर राज करेंगे, आप माइक्रोसॉफ्ट में स्टीव जॉब्स की भूमिका में होंगे। बस यहीं राहुल से बड़ा ब्लंडर हो गया।हाल में लद्दाख में चीनी सैनिकों के घुसपैठ और भारतीय जमीन पर कब्जे के दावे को लेकर राहुल गांधी ने एक वीडियो ट्वीट किया था। अपने आधिकारिक ट्वीटर हैंडल से साझा किए गए वीडियो में राहुल गांधी की ओर से दावा किया गया था कि चीन ने लद्दाख के कई इलाकों पर अवैध रूप से निर्माण कर लिया है, लेकिन वीडियो में नजर आ रहे लोगों के चलते इस पूरे प्रोपगेंडे का खुलासा हो गया। दरअसल जिन लोगों को ‘आम आदमी’ बताकर राहुल गांधी ने शेयर किया है, असल में वो सभी कांग्रेसी कार्यकर्ता और स्थानीय कांग्रेसी नेता थे। इसके अलावा वीडियो में कुछ लोग ऐसे भी थे, जो लद्दाख से संबंध ही नहीं रखते थे। स्टीव जॉब्स माइक्रोसॉफ्ट में नहीं ऐपल के सीईओ थे।संसद में राहुल गांधी एनडीए सरकार पर हमलावर थे। मनरेगा स्कीम को लेकर सरकार पर निशाना साध रहे थे। तभी उन्होंने मनरेगा को केवल नरेगा बोल दिया। मतलब मनरेगा से महात्मा गांधी का नाम ही हटा दिया। संसद में इतना बोलते ही हंगामा होने लगा। मामला बिगड़ते देख राहुल ने अपनी गलती सुधारी और कहा कि भूल गया, भूल गया। हां मैं गलती करता हूं, मैं आरएसएस से नहीं हूं।