नई दिल्ली : जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में लश्कर के स्थानीय आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ में दो आतंकियों को सुरक्षा बलों द्वारा ढेर किया गया। यह मुठभेड़ श्रीनगर के रैनावाड़ी इलाके में हुई। मुठभेड़ में ढेर आतंकियों की पहचान दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग जिले के बिजबेहरा इलाके के निवासियों के रूप में हुई है। मारे गए दोनों आतंकवादी खूंखार आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े हुए थे।पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि सुरक्षाबलों ने आधी रात को इलाके की घेराबंदी कर तलाशी अभियान शुरू किया था, जिसके बाद वहां पर आतंकवादियों से मुठभेड़ हुई और फिर जवाबी कार्रवाई में 2 आतंकवादी मारे गए। मारे गए आतंकवादियों की पहचान रईस अहमद भट्ट और हिलाल अहमद राह के रूप में हुई। रईस अहमद भट्ट के पास से एक प्रेस आईडी कार्ड भी मिला है, जिस पर बड़े शब्दों में मुख्य संपादक  लिखा हुआ है।

श्रीनगर में लश्कर के स्थानीय आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ में दो आतंकियों को सुरक्षा बलों द्वारा ढेर किया गया। यह मुठभेड़ श्रीनगर के रैनावाड़ी इलाके में हुई। मुठभेड़ में ढेर आतंकियों की पहचान दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग जिले के बिजबेहरा इलाके के निवासियों के रूप में हुई है।गौरतलब है कि सेना द्वारा आतंकियों के खिलाफ ताबड़तोड़ कार्रवाई की जा रही है, जिससे आतंकी बौखलाए हुए हैं और सेना पर हमले की साजिश रचते रहते हैं। बीते मंगलवार को उत्तरी कश्मीर के सोपोर में एक महिला ने सीआरपीएफ के कैंप पर पेट्रोल बम से हमला किया था। इस हमले का वीडियो इंटरनेट पर भी वायरल हुआ था।हमलावर महिला ने बुर्का पहन रखा था और मंगलवार शाम करीब 7 बजे महिला ने शिविर पर हमला किया। हालांकि सीआरपीएफ ने इस हमले से हुई आगजनी पर काबू पा लिया। मिली जानकारी के मुताबिक, पुलिस ने इस हमले की पुष्टि नहीं की है।मारा गया आतंकवादी (रईस अहमद भट्ट) पहले एक पत्रकार था और अनंतनाग में ऑनलाइन समाचार पोर्टल ‘वैलीन्यूज सर्विस’ चला रहा था। अगस्त 2021 में ये आतंकवादी रैंक में शामिल हुआ और हमारी सूची में ‘सी’ श्रेणी में था। उसके खिलाफ आतंकी अपराधों के लिए पहले से ही 2 मुकदमे दर्ज हैं।