Friday, June 21, 2024
HomeIndian Newsआजमगढ़ में जहरीली शराब पीने से 10 लोगों की मौत

आजमगढ़ में जहरीली शराब पीने से 10 लोगों की मौत

  नई दिल्ली : यूपी के आजमगढ़ ज‍िले के अहरौला इलाके में जहरीली शराब पीने से सोमवार को 10 लोगों की मौत हो गई। वहीं, एक दर्जन से ज्‍यादा लोग अस्‍पतालों में भर्ती हैं। इनमें से कुछ की आंख की रोशनी चली गई है। इन सभी लोगों ने देशी शराब की सरकारी दुकान से शराब खरीदी थी .इस मामले में दुकान के दो सेल्समैन को गिरफ्तार किया गया है और आबकारी विभाग के तीन कर्मचारियों को निलंबित कर दिया गया है. आज़मगढ़ के जिलाधिकारी अमृत त्रिपाठी के अनुसार, अहरौला थाना क्षेत्र के माहुल नगर पंचायत में सरकारी देशी शराब की दुकान से रविवार शाम को खरीदी गई शराब पीने से तीन लोगों की मौत हो गयी है  इस मामले में डीएम ने जिला आबकारी निरीक्षक नीरज सिंह थानाध्यक्ष और अहरौला संजय सिंह को निलंबित कर दिया है। जहरीली शराब पीने से रविवार से सोमवार शाम तक दस लोगों की मौत हो चुकी है। 60 से अधिक बीमार लोग विभिन्न अस्पतालों में भर्ती हैं।

रविवार को माहुल स्थित जिस दुकान से जानलेवा शराब की बिक्री की गई थी। उसे प्रशासन ने सीज कर दिया है। यह दुकान पूर्व सांसद रमाकांत यादव के नजदीकी रिश्तेदार रंजेश यादव के नाम से आवंटित हैं। पुलिस ने शराब का सैंपल जांच के लिए भेज दिया हैं। वहीं दुकान पर काम करने वाले दो सेल्समैन को हिरासत में लेकर पुलिस पूछताछ कर रही है। आजमगढ़-अंबेडकरनगर की सीमा पर पुलिस और आबकारी विभाग की टीम ने कुछ दिन पहले नकली शराब बनाने वाले गिरोह के 13 सदस्‍यों को पकड़ा था। इनके पास से बड़ी मात्रा में रेक्‍टिफाइड स्प्रिट, प्रमुख शराब कंपनियों की शीशीयां और ढक्‍कन बरामद हुए थे। आरोपितों ने बताया था कि शराब की तीव्रता बढ़ाने के लिए यूरिया का प्रयोग करते और बाइक से गांव-गांव घूमकर शराब पहुंचाते थे।

आजमगढ़ में जहरीली शराब पीने से 10 लोगों की मौत, ग्रामीणों ने सड़क जाम कर किया प्रदर्शन उनका आरोप है कि पुलिस की मिलीभगत के कारण सरकारी ठेके से नकली शराब की बिक्री हो रही थी। सस्ती होने के कारण गांव वाले यह शराब खरीदते हैं। गाव वालों की मांग थी कि हादसे में मारे गए लोगों के परिवार को एक-एक करोड़ रुपये मुआवजा दिया जाए और ठेका बंद करवाया जाए। एसपी ग्रामीण और एसडीएम ने आश्‍वासन देकर प्रदर्शन समाप्त करवाया। ग्रामीणों के मुताबिक जान गंवाने वालों में फेकू सोनकर, झब्‍बू , राम करन सोनकर , सतिराम , अच्‍छेलाल , विक्रमा बिंद , राम प्रीत यादव , बुद्धु  , पंचम  और एक अन्य शामिल हैं। इनमें से फेकू, अच्‍छेलाल, रामप्रति, विक्रमा और सतिराम के शवों का परिवारीजनों ने अंतिम संस्कार कर दिया और पुलिस को इसकी सूचना भी नहीं दी।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments