नई दिल्ली :असम सरकार ने देश के प्रतिष्ठित उद्योगपतियों में से एक और टाटा संस के मानद चेयरमैन रतन टाटा  को अपना सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘असम बैभव’  प्रदान किया. 24 जनवरी, 2022 को गुवाहाटी में आयोजित कार्यक्रम में रतन टाटा सम्मान लेने नहीं पहुंच सके तो असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने बुधवार को उनके घर जाकर उन्हें यह सम्मान प्रदान किया.।। असम वैभव हर साल केवल एक ही व्यक्ति को दिया जाएगा। बता दें कि असम सरकार ने अपने सर्वोच्च सम्मानों के लिए विभिन्न क्षेत्रों के 19 लोगों को चुना है. ‘असम वैभव’ पुरस्कार के तौर पर 5 लाख रुपये नकद, ‘असम सौरव’ के तौर पर 4 लाख रुपये और ‘असम गौरव’ के तौर पर 3 लाख रुपये नकद दिए जाते हैं. असम सरकार ने रतन टाटा को राज्य में कैंसर उपचार सुविधाओं की स्थापना में उनके योगदान के लिए ‘असम बैभव’ भेंट की है। टाटा ट्रस्ट्स ने 2018 की शुरुआत में असम सरकार के साथ व्यापक कैंसर देखभाल प्रदान करने और राज्य में कैंसर रोगियों के लिए किफायती गुणवत्तापूर्ण उपचार सुनिश्चित करने के लिए एक समझौता ज्ञापन  पर हस्ताक्षर किए थे

असम के मुख्यमंत्री सरमा ने कहा टाटा ट्रस्ट्स के अध्यक्ष रतन नवल टाटा को हमारे राज्य के सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार ‘असम बैभव’ से सम्मानित करने का सौभाग्य मिला। उद्योगपति और परोपकारी व्यक्ति ने कैंसर रोगियों की देखभाल के लिए असाधारण योगदान दिया है उन्होंने लिखा मैं वर्ष 2021 के लिए असम बैभव पुरस्कार देने के लिए असम सरकार के निर्णय की बहुत सराहना करता हूं और गहराई से प्रभावित हूं. मैं आपकी व्यक्तिगत प्रतिबद्धता का प्रशंसक रहा हूं. असमिया लोगों की भलाई के लिए और इसलिए, आपसे यह पुरस्कार प्राप्त करना एक असाधारण सम्मान है.

सीएम सरमा ने कहा कि रतन टाटा ने राज्य में कैंसर रोगियों की देखभाल के लिए असाधारण योगदान दिया है  रतन टाटा को राज्य में कैंसर देखभाल सुविधाओं के प्रति उनके योगदान के लिए ‘असम वैभव’ पुरस्कार के वास्ते चुना गया है. जनवरी महीने में मुख्यमंत्री सरमा ने कहा था, ‘‘इन पुरस्कारों के जरिए हम इन लोगों के अपने काम के माध्यम से समाज के लिए योगदान को पहचान देना चाहते हैं असम के मुख्यमंत्री मुंबई पहुंचकर उद्योगपति, परोपकारी और टाटा संस के पूर्व अध्यक्ष रतन नवल टाटा को राज्य का सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार ‘असम बैभव’ पुरस्कार प्रदान किया। मुख्यमंत्री कार्यालय (सीएमओ) ने बुधवार सुबह कहा था कि मुख्यमंत्री दिवंगत लता मंगेशकर के आवास का भी दौरा करेंगे और असम के लोगों की ओर से ‘मेलोडी की क्वीन’ को श्रद्धांजलि देंगे l