Sunday, May 19, 2024
HomeIndian Newsये ‘नॉमिनेशन’ एक ‘मिशन’ है क्योंकि यूपी का ये चुनाव प्रदेश और...

ये ‘नॉमिनेशन’ एक ‘मिशन’ है क्योंकि यूपी का ये चुनाव प्रदेश और देश की अगली सदी का इतिहास लिखेगा -अखिलेश

नई दिल्ली। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादवकरहल विधानसभा सीट से नॉमिनेशन करने के लिए विजय रथ पर कलेक्ट्रेट पहुंच गए है. अखिलेश यादव थोड़ी देर में रहल सीट से पर्चा भरेंगे. इससे पहले उन्होंने समाजवादी रथ की एक फोटो ट्वीट कर लिखा ये ‘नॉमिनेशन’ एक ‘मिशन’ है क्योंकि यूपी का ये चुनाव प्रदेश और देश की अगली सदी का इतिहास लिखेगा!

Akhilesh Yadav tweeted and wrote if the SP government is formed in 2022 electricity will be given at cheap rates - 2022 में सपा सरकार बनी तो सस्तों दरों पर दी जाएगी

आइए प्रोग्रेसिव सोच के साथ सकारात्मक राजनीति के इस आंदोलन में हिस्सा लें… नकारात्मक राजनीति को हराएं भी, हटाएं भी! जय हिन्द! वहीं जानकारी के अनुसार प्रोफेसर राम गोपाल यादव मैनपुरी पहुंच गए है बता दें, कि समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव पहली बार विधानसभा चुनाव लड़ रहे हैं। उन्होंने मैनपुरी के करहल विधानसभा सीट से चुनाव लड़ने की घोषणा बीते दिनों की थी। बता दें कि मैनपुरी में तीसरे चरण में मतदान होने हैं। यहां 20 फरवरी 2022 को वोटिंग होगी। इसके लिए नामांकन प्रक्रिया जारी है। आज इसी के मद्देनजर अखिलेश यादव का नामांकन कार्यक्रम प्रस्तावित है।

नामांकन के लिए सैफई से निकले अखिलेश के साथ पूर्व सांसद तेज प्रताप यादव और करहल क्षेत्र से सपा विधायक सोबरन सिंह यादव भी हैं। अखिलेश के मैनपुरी आने पर वहां कड़े सुरक्षा के इंतजाम किए गए हैं। सरकारी अमला भी अपनी तैयारी पूरी कर चुका है। उधर, पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव रामगोपाल यादव भी कलक्ट्रेट पहुंच चुके हैं। उनके साथ विधान परिषद सदस्य अरविंद यादव भी मौजूद हैं। अखिलेश यादव का नामांकन पत्र 12 बजे के आसपास दाखिल होने की उम्मीद है

 

करहल विधान सभा क्षेत्र में करीब 3 लाख 71 हजार वोटर हैं। इसमें यादव वोटरों की संख्या लगभग 1 लाख 44 हजार है। मतलब कुल वोटर्स का38 परसेंट वोट सिर्फ यादवों का है। सपा की पैठ का अंदाजा ऐसे लगाया जा सकता है कि यहां पहले चुनाव में ही 5 में से 4 सीटें जीती थीं। मैनपुरी, करहल व किशनी सीटों में यादव मतदाताता ज्यादा हैं, जबकि क्षत्रिय मतदाता दूसरे नंबर पर हैं।

भोगांव में लोधी मतदाता पहले और यादव दूसरे नंबर पर हैं यहां से साल 2017 के विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार ने जीत दर्ज की थी। साल 1993 से लेकर आज तक में सिर्फ एक बार साल 2002 में यहां सपा को हार का मुंह देखना पड़ा था। तब बीजेपी के सोबरन सिंह यादव सपा के उम्मीदवार को हराकर विधानसभा पहुंचे थे। 2022 के चुनाव में खुद सपा अध्‍यक्ष अखिलेश यादव इस सीट से चुनाव लड़ने जा रहे हैं।

 

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments