Sunday, February 25, 2024
HomeIndian Newsक्या भारत ने की है मालदीव के बजट में बढ़ोतरी?

क्या भारत ने की है मालदीव के बजट में बढ़ोतरी?

भारत ने मालदीव के बजट में बढ़ोतरी कर दी है! भारत और मालदीव के बीच पिछले कुछ समय से तनातनी चल रही है। लेकिन आज पेश अंतरिम बजट के मुताबिक 2023-24 में मालदीव का संशोधित बजट में 770.90 करोड़ रुपये है। भारत ने मालदीव के लिए शुरुआत में 400 करोड़ रुपये आवंटित किए गए थे। लेकिन संशोधित बजट में यह रकम करीब दोगुनी कर दी गई है। मालदीव अरब सागर में स्थित एक द्वीप देश है जहां भारत कई इन्फ्रा प्रोजेक्ट बना रहा है। भारत और मालदीव के बीच तनाव की शुरुआत तब हुई जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लक्षद्वीप दौरे पर मालदीव के तीन मंत्रियों ने आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। भारत की कड़ी प्रतिक्रिया के बाद इन तीनों मंत्रियों को हटा दिया गया था। लेकिन इसके साथ ही भारत में मालदीव के बहिष्कार की मुहिम भी शुरू हो गई थी। बजट डॉक्यूमेंट्स के मुताबिक फाइनेंशियल ईयर 2024 में मालदीव को 400 करोड़ रुपये का आवंटन किया गया था जो मालदीव के बजट का 1.5 परसेंट है। पिछले वित्त वर्ष में भारत ने विदेशों को जितना आवंटन किया उसका 6.84 फीसदी मालदीव को गया था। लेकिन अब मालदीव का संशोधित बजट 770.90 करोड़ रुपये कर दिया गया है। भारत और मालदीव के संबंधों में हाल में कड़वाहट आई है। मोदी के लक्षद्वीप दौरे पर मालदीव के मंत्रियों की टिप्पणी भारत को नागवार गुजरी। भारत की नाराजगी जताने के बाद इन मंत्रियों की छुट्टी कर दी गई लेकिन भारत में सोशल मीडिया पर #BoycottMaldives ट्रेंड करने लगा।

इस बीच मालदीव जाने वाले भारतीय पर्यटकों की संख्या में काफी गिरावट आई है। मालदीव सरकार के आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक पिछले तीन हफ्ते में देश की टूरिज्म रैंकिंग में भारत पांचवें स्थान पर चला गया है। पिछले लगातार तीन साल मालदीव जाने वाले पर्यटकों में भारतीयों की संख्या सबसे ज्यादा थी। 2023 में मालदीव के टूरिज्म मार्केट में भारत की हिस्सेदारी 11% थी। लेकिन 28 जनवरी के आंकड़ों के मुताबिक भारत की हिस्सेदारी महज आठ फीसदी रह गई है। इस रैंकिंग में रूस पहले, इटली दूसरे, चीन तीसरे, यूके चौथे और भारत पांचवें नंबर है। पिछले तीन हफ्ते के दौरान 13,989 भारतीय पर्यटक मालदीव पहुंचे। बता दें कि भारत और मालदीव के बीच तनाव की शुरुआत तब हुई जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आवंटन किया उसका 6.84 फीसदी मालदीव को गया था। लेकिन अब मालदीव का संशोधित बजट 770.90 करोड़ रुपये कर दिया गया है। भारत और मालदीव के संबंधों में हाल में कड़वाहट आई है। मोदी के लक्षद्वीप दौरे पर मालदीव के मंत्रियों की टिप्पणी भारत को नागवार गुजरी। भारत की नाराजगी जताने के बाद इन मंत्रियों की छुट्टी कर दी गई लेकिन भारत में सोशल मीडिया पर #BoycottMaldives ट्रेंड करने लगा।लक्षद्वीप दौरे पर मालदीव के तीन मंत्रियों ने आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। भारत की कड़ी प्रतिक्रिया के बाद इन तीनों मंत्रियों को हटा दिया गया लेकिन इसके साथ ही मालदीव का बहिष्कार भी शुरू हो गया। कई ट्रैवल एजेंसियों ने मालदीव के लिए फ्लाइट बुकिंग्स कैंसल कर दी। सोशल मीडिया पर #BoycottMaldives ट्रेंड करने लगा। कई भारतीयों ने मालदीव की बुकिंग कैंसल कर दी और इसका स्क्रीन शॉट सोशल माडिया पर शेयर किया। 2023 में मालदीव के टूरिज्म मार्केट में भारत की हिस्सेदारी 11% थी।

मालदीव सरकार का आंकड़ों के मुताबिक 28 जनवरी तक कुल 174,400 पर्यटक मालदीव आए। इनमें केवल 13,989 भारतीय थे। इस दौरान रूस के 18,561, इटली के 18,111, चीन के 16,529 और यूके के 14,588 पर्यटक मालदीव पहुंचे। दिसंबर, 2023 में मालदीव के टूरिज्म मार्केट में रूस की हिस्सेदारी 24.1% और भारत की 23.4% थी। 2023 में दो लाख से अधिक भारतीय पर्यटकों ने मालदीव की यात्रा की। भारत की कड़ी प्रतिक्रिया के बाद इन तीनों मंत्रियों को हटा दिया गया लेकिन इसके साथ ही मालदीव का बहिष्कार भी शुरू हो गया। कई ट्रैवल एजेंसियों ने मालदीव के लिए फ्लाइट बुकिंग्स कैंसल कर दी। सोशल मीडिया पर #BoycottMaldives ट्रेंड करने लगा। कई भारतीयों ने मालदीव की बुकिंग कैंसल कर दी और इसका स्क्रीन शॉट सोशल माडिया पर शेयर किया। बता दें कि भारत और मालदीव के संबंधों में हाल में कड़वाहट आई है। मोदी के लक्षद्वीप दौरे पर मालदीव के मंत्रियों की टिप्पणी भारत को नागवार गुजरी। भारत की नाराजगी जताने के बाद इन मंत्रियों की छुट्टी कर दी गई लेकिन भारत में सोशल मीडिया पर #BoycottMaldives ट्रेंड करने लगा। 2023 में मालदीव के टूरिज्म मार्केट में भारत की हिस्सेदारी 11% थी।इसके बाद रूस और चीन का नंबर है। उससे पहले 2021 और 2022 में भी मालदीव जाने वाले पर्यटकों में भारत पहले नंबर पर था। 2021 में 2.91 लाख से अधिक भारतीय मालदीव पहुंचे थे जबकि 2022 में यह संख्या 2.41 लाख थी।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments