Sunday, May 19, 2024
HomeGlobal Newsयूक्रेन में भारतीयों को अलर्ट- खार्किव शहर तुरंत छोड़ें, एडवाइजरी जारी होते...

यूक्रेन में भारतीयों को अलर्ट- खार्किव शहर तुरंत छोड़ें, एडवाइजरी जारी होते ही बरसने लगे मिसाइल

रूस -यूक्रेन के बीच का जंग किसी तरह से सुलह की सड़क पर चलता  नहीं दिख रहा  है । दुनिया की कुछ जानकार इसे तीसरे वर्ल्ड वार के जन्मदाता बता रहे है , वही कुछ लोग इसे रूस के  विसाद के लिये लड़ा गया युद्ध   मान रहे है ।रूस का यूक्रेन पर हमला लगातार 7वें दिन भी जारी है। इस बीच यूक्रेन में इंडियन एम्बेसी ने खार्किव में सभी भारतीय नागरिकों को दो एडवाइजरी जारी की हैं। पहली में तत्काल खार्किव शहर छोड़ने को कहा गया है। शाम छह बजे (भारतीय समय अनुसार रात नौ बजे तक) तक हर हाल में खार्किव छोड़ दें। इसके आधे घंटे बाद जारी दूसरे अलर्ट में पोसेचिन, बाबई और बेजुल्योदोव्का पहुंचने को कहा गया है। ये भी कहा गया है कि पैदल ही खार्किव से निकल जाएं। खार्किव से पोसेचिन 11 किमी, बाबई 12 किमी और बेजुल्योदोव्का 16 किमी दूर है। एडवाइजरी जारी होने के बाद खार्किव में एक क्रूज मिसाइल सिटी काउंसिल की इमारत से टकरा गई। खार्किव रेलवे स्टेशन पर हजारों भारतीय फंसे हुए हैं। यहां से ट्रेनें नहीं चल रही हैं।

यूक्रेन में अब सिर्फ 3 हजार भारतीय ही फंसे

यूक्रेन में अब केवल करीब तीन हजार भारतीय ही फंसे हैं। अब तक 17 हजार भारतीय यूक्रेन छोड़ चुके हैं। इनमें से 3352 भारत आ चुके हैं। बाकी लाए जा रहे हैं। अगले 24 घंटों में 15 उड़ानें अलग-अलग देशों से उन्हें एयरलिफ्ट करेंगी। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने बताया पिछले 24 घंटों के दौरान, 6 उड़ानें भारत में उतरी हैं।

200 भारतीयों को लेकर आज रात आएगा पहला C-17 ग्लोबमास्टर

वायुसेना का C-17 ग्लोबमास्टर 200 भारतीयों को लेकर आज रात 11 बजे रोमानिया से लौटेगा। पोलैंड और हंगरी से दो विमान गुरुवार तड़के लौटेंगे। 10 फ्लाइट्स से 2305 भारतीयों को एयरलिफ्ट किया गया है। वहीं, हंगरी के बुडापेस्ट से भारतीय छात्रों को लेकर स्पाइसजेट की फ्लाइट आज शाम 6.30 बजे दिल्ली के इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पहुंचेगी। इंडियन एयरफोर्स का कहना है कि भारतीयों को निकालने के लिए प्रतिदिन 4 विमान उड़ाए जाने की तैयारी है।

मोदी ने किया वादा  कोई कसर नहीं छोड़ेंगे

उत्तर प्रदेश के रॉबर्ट्सगंज की चुनावी सभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा- हम ऑपरेशन गंगा के तहत यूक्रेन में फंसे लोगों को निकालने के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं। हजारों नागरिकों को भारत वापस लाया गया है। इस मिशन को गति देने के लिए भारत ने अपने 4 मंत्रियों को वहां भेजा है, भारतीयों की सुरक्षित यात्रा के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी जाएगी।

एअर इंडिया का दसवां विमान दिल्ली पहुंचा

बुधवार को दसवां विमान भारतीयों को लेकर दिल्ली पहुंचा। इसके पहले 9वीं उड़ान में रात 1.30 बजे 218 भारतीय दिल्ली पहुंचे थे। केंद्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव ने दिल्ली एयरपोर्ट पर छात्रों का स्वागत किया। ऑपरेशन गंगा के तहत अब तक 10 फ्लाइट्स से कुल 2,305 भारतीयों को देश वापस लाया जा चुका है। आज कुल 7 फ्लाइट्स यूक्रेन के आसपास के देशों से भारतीयों को लेकर स्वदेश पहुंचेंगीं।

केद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने दिल्ली एयरपोर्ट पर मलयालम, बांग्ला, गुजराती और मराठी भाषी स्टूडेंट का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि घर वापस आने पर आपका स्वागत है। आपके परिवार सांसें रोक कर इंतजार कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि आप सभी ने यूक्रेन में अपने साहस का परिचय दिया है। अब आप भारत अपने देश आ चुके हैं, इसके लिए आप फ्लाइट के क्रू मेंबर को भी धन्यवाद दें।

सिंधिया बोले- मोलदोवा का बॉर्डर भी भारतीयों के लिए खुला

उधर, ऑपरेशन गंगा की निगरानी के लिए रोमानिया के बुखारेस्ट पहुंचे केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ‌वहां इंतजार कर रहे भारतीयों से बात की। वे रोमानिया और मोलदोवा के राजदूत से भी मिले। सिंधिया ने बताया कि मोलदोवा का बॉर्डर भी भारतीयों के लिए खोल दिया गया है। वहां पहुंचने वाले भारतीयों के ठहरने का भी इंतजाम कर दिया गया है।

पोलैंड एम्बेसी की एडवाइजरी, बुडोमाइर्ज बॉर्डर से एंट्री करें

पोलैंड में इंडियन एम्बेसी ने वहां पहुंच रहे भारतीयों के लिए नई एडवाइजरी जारी की है। इसमें कहा गया है कि यूक्रेन के ल्वीव, टर्नोपिल और पश्चिमी हिस्सों से पोलैंड आ रहे भारतीयों को आसान एंट्री के लिए बुडोमाइर्ज बॉर्डर चेक पॉइंट का उपयोग करना चाहिए। वहां इंडियन एम्बेसी ने अधिकारी भी तैनात कर दिए हैं। पोलैंड में प्रवेश के लिए शिहाइनी-मिडाइका बॉर्डर का उपयोग करने से बचें। वहां काफी भीड़भाड़ है। इस बीच पोलैंड से भारतीयों को लेकर पहली फ्लाइट रवाना हो गई है।और  लगातार भारत सरकार निगरानी  करती हुई दिख रही है ।

 

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments