नई दिल्ली :चारा  घोटाला में राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव को एक और सजा हुई है। केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की विशेष अदालत ने डोरंडा कोषागार से अवैध निकासी मामले में लालू को पांच साल की सजा सुनाई है। उन पर 60 लाख रुपए का जुर्माना भी लगाया गया है। लालू प्रसाद के वकील ने कहा है कि वह इस सजा के खिलाफ हाई कोर्ट में अपील करेंगे। बिहार के डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद ने कोर्ट के फैसले का सम्मान करते हैं। कोर्ट ने अपना काम किया है। उन्हें सजा दी है। यह कानूनी प्रक्रिया है चारा घोटाला के सबसे बड़े मामले में सीबीआई के विशेष न्यायाधीश एसके शशि की अदालत ने आज लालू प्रसाद यादव को सजा सुनायी. डोरंडा कोषागार  से 139.35 करोड़ रुपये की अवैध निकासी से जुड़े चारा घोटाला के पांचवें मामले में अदालत ने इन्हें 5 साल कारावास की सजा सुनायी और 60 लाख रुपये का जुर्माना लगाया. आपको बता दें कि पिछले 15 फरवरी को लालू प्रसाद समेत 75 आरोपियों को अदालत ने दोषी करार दिया था. इनमें 38 अभियुक्तों की सजा के बिंदु पर फैसले के लिए 21 फरवरी की तारीख मुकर्रर की थी, जबकि 24 आरोपियों को बरी कर दिया गया था. इस मामले में कुल 99 आरोपियों ने कोर्ट में ट्रायल फेस किया था  सीबीआई के अधिवक्ता बीएमपी सिंह की ओर से सजा के बिंदु पर सुनवाई के दौरान कहा गया कि इस मामले में इतने आरोपी और गवाहों को पेश करने की वजह से ट्रायल में देरी हुई है लेकिन सबकी नजर इस बात को लेकर है कि इतने बड़े घोटाले में आखिर दोषियों को  कितनी सजा मिलती है। इसलिए उनकी ओर से अदालत से आग्रह किया गया कि इस मामले में अधिकतम से अधिकतम सजा दी जाए।

चारा घोटाले में लालू यादव की यह पांचवी सजा है। सीबीआई की विशेष अदालत के न्यायाधीश एस के शशि ने 15 फरवरी को लालू यादव सहित अन्य आरोपियों को दोषी करार देते हुए सजा पर सुनवाई के लिए 21 फरवरी की तारीख तय की थी। अदालत ने गत 15 फरवरी को 41 आरोपियों को दोषी करार दिया। अदालत ने वीडियो कांफ्रेंस के जरिए सजा सुनाई है। लालू यादव स्वास्थ्य कारणों की वजह से राजेन्द्र आयुर्विज्ञान संस्थान (रिम्स) में भर्ती हैं।लालू प्रसाद यादव इस समय रांची र‍िम्‍स में इलाजरत हैं। यहां पर होटवार जेल प्रशासन की ओर से उन्‍हें एक लैपटाप उपलब्‍ध कराया गया था। इसी लैपटाप के सहारे लालू यादव ने अपनी सजा सुनी। सजा सुनाए जाने से पहले लालू प्रसाद की ओर से उनके वकील प्रभात कुमार ने अदालत में बहस की। उन्होंने कहा कि लालू यादव की उम्र 75 साल हो गई है। लालू को कुल 17 तरह की बीमारियां है। बीपी और शुगर का भी हवाला दिया। अदालत से उन्होंने कम से कम सजा देने की मांग की। उधर सीबीआई के वकील ने बहस करते हुए सभी दोषियों को अधिक से अधिक सजा देने की मांग की।