Friday, July 19, 2024
HomeIndian Newsभारत ने इंग्लैंड को चार विकेट से हारकर पांचवी बार अंडर 19...

भारत ने इंग्लैंड को चार विकेट से हारकर पांचवी बार अंडर 19 वर्ल्ड कप खिताब दिलाया है.

नई दिल्ली   टीम इंडिया ने अंडर-19 वर्ल्ड कप में इंग्लैंड को हराकर इतिहास रचा है. भारत ने पांचवी बार अंडर-19 वर्ल्डकप का खिताब जीता है. अंडर-19 वर्ल्डकप में फाइनल में भारत ने इंग्लैंड को चार विकेट से हराकर महामुकाबला जीत लिया है.इस जीत के साथ यश भारतीय क्रिकेट हिस्ट्री में उन कप्तानों की लिस्ट में जुड़ गए हैं. जिन्होंने विश्वकप खिताब जीता है. टीम इंडिया के लिए वैसे तो इस विश्वकप सभी खिलाड़ियों ने बेमिसाल क्रिकेट खेली और टीम को ट्रॉफी दिलाई इंग्लैंड टीम ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया. भारतीय गेंदबाजों ने उनका ये फैसला गलत साबित कर दिया. इंग्लैंड टीम ने भारत को 190 रनों का टारगेट दिया, जिसे भारत ने 6 विकेट खोकर हासिल कर लिया. एक समय भारतीय संकट में नजर आ रही थी जब उसने 97 रन पर चार विकेट गंवा दिए थे, लेकिन उसके बाद उपकप्तान शेख रशीद और निशांत सिंधु ने शानदार पारियां खेलकर टीम इंडिया को जीत के दरवाजे तक पहुंचा दिया था.

भारत की अंडर-19 टीम ने यश धुल की कप्तानी में पांचवीं बार खिताब अपने नाम किया है. यश से पहले भारत ने मोहम्मद कैफ (2000), विराट कोहली (2008), उनमुक्त चंद (2012), पृथ्वी शॉ (2018) की कप्तानी में भारत ने अंडर-19 वर्ल्ड कप जीता था. भारतीय टीम के आगे इंग्लिश टीम टिक ही नहीं पाई. मैच के शुरुआत से ही भारतीय गेंदबाजों ने कमाल का खेल दिखाया. टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए इंग्लैंड ने 44.5 ओवरों में 189 रन बनाए, जिसमें जेम्स रेव ने सबसे ज्यादा 95 रनों की पारी खे

वर्ल्ड कप में शतक जड़ने वाले भारतीय कप्तानों की बात करें तो ये लिस्ट बेहद छोटी है. सिर्फ तीन ही ऐसे खिलाड़ी हुए हैं जिन्होंने ये कारनामा किया है. और तीनों ही दिल्ली से आते हैं. विराट कोहली, उन्मुक्त चंद के बाद ये कारनामा किया है यश धुल ने. 11 साल की उम्र में उन्होंने बाल भवन क्रिकेट अकेडमी ज्वाइन की और इस खेल को अपना प्रोफेशन बनाने की ठानी 12 साल की उम्र में दिल्ली अंडर-14 टीम में जगह बनाई. इसके बाद अंडर-16 विजय मर्चेंट ट्रॉफी में उन्होंने पंजाब के खिलाफ 186 रन की पारी खेली जिसके बाद उन्हें दिल्ली की टीम का कप्तान बना दिया गया. इसके बाद उन्हें दिल्ली की अंडर-18 टीम की कप्तानी भी सौंपी गई. 19 साल के धुल ने 2021 में हुई वीनू मांकड़ ट्रॉफी में 75 से ज्यादा की औसत से 302 बनाए और टूर्नामेंट के लीडिंग रन स्कोरर भी रहे. जिसके बाद 2022 में उन्हें अंडर-19 एशिया कप और वर्ल्ड कप की टीम का कप्तान बनाया गया.

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments