Thursday, April 18, 2024
HomeIndian NewsJaisalmer: सेना दिवस के मौके पर फहराया गया भारत का सबसे बड़ा...

Jaisalmer: सेना दिवस के मौके पर फहराया गया भारत का सबसे बड़ा झंडा

इंडियन आर्मी के 74वां स्थापना दिवस पर आज दुनिया का सबसे बड़ा झंडा जैसलमेर की धरती पर फहराया गया, सेना दिवस के मौके पर लगने वाला तिरंगा 225 फीट लंबा और 150 फीट चौड़ा है इसका वजन करीब 1 हजार किलो के आसपास है इस झंडे की खास बात ये है कि इसको खादी ग्रामोद्योग ने बनाया है |

सेना दिवस पर आज जैसलमेरके लोंगेवाला में भारत- पाकिस्तान सीमा पर देश की अस्मिता और गौरव का प्रतीक भव्य राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाएगा लोंगेवाला 1971 के ऐतिहासिक भारत- पाकिस्तान युद्ध का केंद्रस्थल था, इस झंडे को तैयार करने में खादी के 70 कारीगरों को 49 दिन लगे थे इंडियन आर्मी आज अपना 74वां स्थापना दिवस मना रही है। बता दे देश में हर साल 15 जनवरी को भारतीय थल सेना दिवस मनाया जाता है। आज ही के दिन 1949 में फील्ड मार्शल केएम करियप्पा ने जनरल फ्रांसिस बुचर से भारतीय सेना की कमान ली थी। फ्रांसिस बुचर भारत के अंतिम ब्रिटिश कमांडर इन चीफ थे। आर्मी डे पर पूरा देश थल सेना के अदम्य साहस, उनकी वीरता, शौर्य और उसकी कुर्बानी को याद करता है।आज दुनिया का सबसे बड़ा झंडा जैसलमेर की धरती पर फहराएगा.

देश की आजादी के 75 साल पूरे होने के मौके पर जैसलमेर में सेना के वॉर म्यूजियम के पास पहाड़ी की चोटी पर खादी से बना दुनिया का सबसे बड़ा राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाएगा| जम्मू-कश्मीर और लेह के बाद जैसलमेर तीसरा स्थान होगा जहां दुनिया का सबसे बड़ा खादी का झंडा फहराया जा रहा है. बताया जा रहा है कि झंडा लगभग 37,500 वर्ग फीट एरिया में फैला है. आज सेना के कई बड़े अधिकारी, जनप्रतिनिधि और अन्य लोग इसको देखने आएंगे और उस दिन इस मौके पर मौजूद रहेंगे

खादी द्वारा सार्वजनिक प्रदर्शन के लिए बनाया गया यह 5वां ध्वज है

इसे पहले गाँधी जयंती पर 2 अक्टूबर 2021 को लेह में तिरंगे का अनावरण किया गया था, इसके बाद खादी द्वारा सार्वजनिक प्रदर्शन के लिए बनाया गया यह 5वां ध्वज है. दूसरा तिरंगा 8 क्टूबर 2021 को वायु सेना दिवस के अवसर पर हिंडन एयरबेस पर और 21 अक्टूबर 2021 को लाल किले पर प्रदर्शित किया गया था. उसी दिन भारत में 100 करोड़ वैक्सीनेश पुरे होगये थे|सूक्ष्म, लघु एवं मझोले उद्यम (एमएसएमई) मंत्रालय ने शुक्रवार को एक बयान में कहा कि भारत-पाकिस्तान सीमा पर स्थित लोंगेवाला में यह विशालकाय तिरंगा प्रदर्शित किया जाएगा। लोंगेवाला सीमा चौकी 1971 के भारत-पाकिस्तान युद्ध में एक ऐतिहासिक जंग की गवाह रही है। झंडे को लगाने के लिए दर्जनों मजदूर और जेसीबी मशीनें काम में जुटी हुई हैं। बताया जा रहा है कि झंडा लगभग 37,500 वर्ग फुट एरिया में फैला है। सूक्ष्म, लघु एवं मझोले उद्यम (एमएसएमई) मंत्रालय के बयान के मुताबिक, खादी से बना दुनिया का सबसे बड़ा राष्ट्रीय ध्वज सेना दिवस के अवसर पर जैसलमेर में स्थित सीमा चौकी पर प्रदर्शन के लिए रखा जाएगा। मंत्रालय ने कहा कि 225 फुट लंबे, 150 फुट चौड़े और करीब 1,400 किलोग्राम वजन वाले इस विशालकाय तिरंगे को प्रदर्शित करने का यह पांचवां सार्वजनिक प्रदर्शन होगा।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments