नई दिल्ली : देश मे टीकाकरण की गति को और तेज करने के लिए सघन मिशन इंद्रधनुष 4.0 की आज शुरुआत की गई। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया( Mansukh Mandaviya) ने इसकी शुरुआत की है। इस मौके पर स्वास्थ्य मंत्री ने मिशन इंद्रधनुष पोर्टल भी लांच किया देश मे टीकाकरण की गति को और तेज करने के लिए सघन मिशन इंद्रधनुष 4.0 की आज शुरुआत की गई. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने इसकी शुरुआत की है  इस मौके पर स्वास्थ्य मंत्री ने मिशन इंद्रधनुष पोर्टल भी लांच किया. बिहार में मिशन इंद्रधनुष 4.0 के तहत सात फरवरी से नियमित टीकाकरण को गति देने के लिए अभियान शुरू होगा. केंद्र सरकार के दिशा-निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग द्वारा सभी जिलों में एक साथ यह अभियान संचालित किया जाएगा l कोरोना संक्रमण के प्रसार को देखते हुए राज्य स्वास्थ्य समिति ने यह निर्णय लिया है। इसको लेकर जिले के सभी प्रखंडों में सर्वे का काम शुरू किया जाएगा। उसके बाद मिशन इंद्रधनुष कार्यक्रम के तहत नियमित टीकाकरण अभियान की शुरुआत की जाएगी। इसके तहत दो वर्ष के बच्चों व गर्भवती महिलाओं को कई गंभीर बीमारियों से बचाव के लिए टीकाकृत किया जाएगा। इसे लेकर स्वास्थ्य विभाग की ओर से अभी से तैयारी की जा रही है

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ.दिनेश चंद मीणा ने बताया कि सघन मिशन इंद्रधनुष 4.0 टीकाकरण अभियान शुरू हो रहा है। जो पहले चरण में 7 फरवरी से 7 मार्च व 4 अप्रैल तक दूसरे चरण में चलेगा। इस अभियान में विश्व स्वास्थ्य संगठन और अन्य संगठनों के प्रतिनिधि    भी पूरा सहयोग कर रहे हैं। जिला प्रजनन एवं शिशु स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ.जयंती लाल मीणा ने बताया कि से सघन मिशन इंद्रधनुष 4.0 टीकाकरण अभियान को लेकर बनाई गई कार्ययोजना के मुताबिक जिले में नियमित टीकाकरण से वंचित बच्चों के टीकाकरण का लक्ष्य रखा गया है। सघन मिशन इंद्रधनुष 4.0 टीकाकरण अभियान में उन्हीं बच्चों को शामिल किया गया हैं, जो नियमित टीकाकरण से किसी भी कारणवश वंचित रह जाते हैं। ऐसे बच्चों का हैड काउंट सर्वे करवाकर उनकी सूची तैयार की गई है। उक्त कार्य में संबंधित क्षेत्र की आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और आशा सहयोगिनी भी काम करेंगी। विशेष बात यह है कि इस अभियान के तहत गर्भवती महिलाओं को भी टीकाकृत किया जाएगा। उसके बाद मिशन इंद्रधनुष कार्यक्रम के तहत नियमित टीकाकरण अभियान की शुरुआत की जाएगी। इसके तहत दो वर्ष के बच्चों व गर्भवती महिलाओं को कई गंभीर बीमारियों से बचाव के लिए टीकाकृत किया जाएगा। इसे लेकर स्वास्थ्य विभाग की ओर से अभी से तैयारी की जा रही है  l