नई दिल्ली:  राष्ट्रीय लोकदल का राष्ट्रीय अध्यक्ष जयंत चौधरी भारतीय जनता पार्टी पर लगातार हमलावर हैं। मथुरा की एक जनसभा में उन्होंने भाजपा नेताओं द्वारा रालोद नेताओं पर डोरे डालने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने उनकी पार्टी के एक सहयोगी को आफर दिया और कहा हेमा मालिनी बना दूंगा। उन्होंने कहा कि मेरे लिए भी बाते चल रही हैं, लेकिन भाजपा को मुझसे कोई प्यार नहीं है। मुझे खुश करके क्या मिल जाएगा। मुझे नहीं बनना हेमा मालिनी। उन्होंने कहा, ”आज इनकी जुबान पर मेरे लिए इतनी मीठी-मीठी बातें हैं। योगेश तो कह रहा था, योगेश को तो अमित शाह ने कह दिया कि आ जा तेरा हेमा मालिनी बना दूंगा। और ना जानें कैसी कैसी बातें मेरे लिए भी कह रहे हैं। कोई प्यार कोई लगाव नहीं है हमारे लिए। और मैं कह रहा हूं कि मुझे खुश करके क्या मिल जाएगा, मुझे तो नहीं बनना हेमा मालिनी।

जयंत चौधरी ने गृहमंत्री अमित शाह के बीते दिनों  के बयान ‘जयंत चौधरी ने गलत घर चुन लिया है’ पर बिना किसी का नाम लिए पलटवार करते हुए कहा कि वे हमें बुला रहे हैं, हम इतने सस्ते नहीं हैं। अपना ईमान नहीं बेचेंगे। रालोद प्रमुख ने कृषि कानूनों के विरोध के दौरान किसानों की मौत को लेकर भाजपा पर निशाना साधा। उन्होंने ॉलखीमपुर खीरी हिंसा की घटना को लेकर सत्तारूढ़ भगवा पार्टी पर भी निशाना साधा और केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा टेनी के इस्तीफे की अपनी मांग दोहराई। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के चुनाव में किसानों के रुख पर पंजाब, हरियाणा और राजस्थान की भी नजरें लगी हैं।जयंत चौधरी ने गृहमंत्री अमित शाह के बीते दिनों के बयान ‘जयंत चौधरी ने गलत घर चुन लिया है’ पर बिना किसी का नाम लिए पलटवार करते हुए कहा कि वे हमें बुला रहे हैं, हम इतने सस्ते नहीं हैं। अपना ईमान नहीं बेचेंगे। रालोद प्रमुख ने कृषि कानूनों के विरोध के दौरान किसानों की मौत को लेकर भाजपा पर निशाना साधा। उन्होंने  लखीमपुर खीरी हिंसा की घटना को लेकर सत्तारूढ़ भगवा पार्टी पर भी निशाना साधा और केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा टेनी के इस्तीफे की अपनी मांग दोहराई। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के चुनाव में किसानों के रुख पर पंजाब, हरियाणा और राजस्थान की भी नजरें लगी हैं।

यूपी विधान सभा चुनाव में जयंत चौधरी की पार्टी और अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी ने गठबंधन किया है. जयंत चौधरी आरएलडी और सपा के गठबंधन की जीत का दावा कर रहे हैं. माना जा रहा है कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश में बीजेपी और सपा-आरएलडी गठबंधन में कड़ी टक्कर है  जयंत ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर भी निशाना साधा। कहा, बाबा जी को पश्चिम के लोगों में न जाने कौन सी गर्मी दिख रही है। वह यहां के लोगों का मिजाज नहीं जानते। हमारा खून ही गर्म है। बाबा हमारे खून का इलाज करने चले हैं। उन्हें 10 फरवरी को कंबल लेकर गोरखपुर के मठ भेज दो  और कहा कि युवाओं की भर्ती हुई, घर वालों ने मिठाई बांटी और फिर पता चला भर्ती रुक गई। ये सब व्यवस्था का सवाल है। चुनाव में इस पर गौर करना है। भाजपा की ओर संकेत कर कहा, उनकी मंशा जातिवाद कर हमारी एकता को तोड़ने की है।