Monday, July 15, 2024
HomeIndian Newsउत्तराखंड विधानसभा चुनाव से पहले ही मंत्री हरक सिंह रावत को...

उत्तराखंड विधानसभा चुनाव से पहले ही मंत्री हरक सिंह रावत को बीजेपी से 6 साल के लिए निकाला

हरक सिंह रावत ने यह भी साफ किया कि वह कांग्रेस में शामिल होंगे |

उत्तराखंड विधानसभा चुनाव से पहले ही मंत्री हरक सिंह रावत को बीजेपी से 6 साल के लिए निकाल दिया हरक सिंह रावत ने कहा कि कांग्रेस के नेताओं से उनकी बात हुई है,. साथ ही साथ यह भी साफ किया कि वह कांग्रेस में शामिल होंगे, और अगर नहीं भी हुए तो भी कांग्रेस के लिए ही काम करेंगे. हालांकि, अभी सोनिया गांधी से वह नहीं मिले हैं लेकिन मैंने कहा ना… प्रदेश में कांग्रेस की सरकार आ रही है। उसे कोई दुनिया की ताकत रोक नहीं सकती है। केदार बाबा के भक्‍त हैं मोदीजी, मैं भी कोई कम भक्‍त नहीं हूं। मोदी जी बाद में केदारनाथ गए हैं। मैंने केदार बाबा की सेवा की है, पूरी केदार घाटी की जानती है मैंने कितनी सेवा की है। मैंने दिल से सेवा की है, मैं कोई दिखावे के लिए काम नहीं करता हूं। केदार बाबा का आशीर्वाद है। मैं शायद माध्‍यम बन रहा हूं। केदार बाबा , बद्रीनाथ मुझे ईश्‍वर का  माध्‍यम बनाना चाहता है, इसलिए अच्‍छा होगा और कांग्रेस की सरकार प्रदेश में आ रही है और ये सुनिश्चित है।

हरक सिंह रावत ने कहा कि ‘केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी ने मुझे मिलने के लिए दिल्ली बुलाया था, ट्रैफिक की वजह से मुझे थोड़ी देरी हो गई. मैं उनसे और गृहमंत्री अमित शाह जी से मिलना चाहता था, लेकिन मैं जैसे ही दिल्ली पहुंचा, सोशल मीडिया पर देखा कि उन्होंने मुझे निकाल दिया हैहरक सिंह रावत को रविवार की रात ‘पार्टी-विरोधी गतिविधियों’ के चलते पार्टी से निकाल दिया गया. आधी रात से पहले ऐसी रिपोर्ट्स आईं कि मुख्यमंत्री पुष्कर धामी ने गवर्नर को चिट्ठी लिखकर रावत को कैबिनेट से भी हटाए जाने के फैसले से अवगत करा दिया था. धामी ने आरोप लगाया कि रावत अपने परिवार के सदस्यों के लिए टिकट की लॉबिंग कर रहे थे

 

हरीश रावत ने कहा है कि अगर हरक सिंह रावत अपनी कांग्रेस छोड़ने की गलती मान लेते हैं तो हम पार्टी में उनका स्वागत करने के लिए तैयार हैं।

हरक सिंह रावत को भाजपा से निकाले जाने के बाद अब पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता हरीश रावत का बड़ा बयान सामने आया है। हरीश रावत ने कहा है कि अगर हरक सिंह रावत अपनी कांग्रेस छोड़ने की गलती मान लेते हैं तो हम पार्टी में उनका स्वागत करने के लिए तैयार हैं।बीजेपी से निकाले जाने के बाद जब हरक सिंह रावत से इस मामले पर प्रतिक्रिया मांगी गई तो वो फूट-फूट कर रोने लगे। रोते-रोते बीजेपी के पूर्व नेता ने कहा कि वो इसका बदला लेंगे। हरक सिंह रावत ने कहा कि कांग्रेस पार्टी उत्तराखंड में सरकार बनाएगी और वो कांग्रेस पार्टी के लिए काम करेंगे। वहीं इस मामले पर प्रतिक्रिया देते हुए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि भाजपा से निकाले गए और राज्य मंत्रिमंडल से हटाए गए हरक सिंह रावत अपने परिवार के सदस्यों के लिए टिकट के लिए पार्टी पर दबाव बना रहे थे। सीएम ने कहा- “हमारी एक अलग नीति है, एक परिवार के केवल एक सदस्य को चुनाव के लिए पार्टी का टिकट दिया जाएगा प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल ने कहा कि हरक सिंह रावत ने विपत्ति के समय में भाजपा का साथ दिया था, लेकिन आज जिस तरह से उन्हें मंत्री पद से बर्खास्त किया गया और पार्टी से हटाया गया, इससे उनकी भावनाएं आहत हुई हैं। भाजपा ने 2016 में कांग्रेस के खिलाफ उनका इस्तेमाल कर पार्टी को नुकसान पहुंचाया था, तब भाजपा को सोचना चाहिए था कि प्रेशर पॉलिटिक्स कौन कर रहा है

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments