Friday, May 24, 2024
HomeIndian Newsप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए क्या बोले अभिषेक बनर्जी?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए क्या बोले अभिषेक बनर्जी?

अभिषेक बनर्जी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए एक बयान दिया है! सीबीआई के अधिकारियों ने स्कूल भर्ती घोटाले की जांच के सिलसिले में शनिवार को तृणमूल कांग्रेस टीएमसी के नेता अभिषेक बनर्जी से छह घंटे से ज्यादा समय तक पूछताछ की। CBI पूछताछ के बाद बनर्जी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा अब 2024 में वोटबंदी होने वाला है। 2016 में मोदी जी ने 50 दिन का समय मांगा था, आज 7 साल हो गए हैं, क्या कालाधन खत्म हुआ? आज CBI दफ्तर पहुंचने से पहले बनर्जी ने एजेंसी को एक पत्र लिखकर हाई कोर्ट के उस आदेश को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती देने के अपने फैसले की जानकारी दी, जिसमें अदालत ने सीबीआई और ईडी को उनसे पूछताछ करने की अनुमति दी है। TMC नेता ने कहा, सीबीआई ने मुझे तलब किया है, क्योंकि बीजेपी चाहती हैं कि जनसंपर्क अभियान बंद हो। अभिषेक बनर्जी ने सीबीआई पूछताछ के बारे में कहा कि ‘दिल्ली के आकाओं’ का पालतू कुत्ता नहीं बनूंगा, इसलिए निशाना बनाया गया। उन्होंने कहा, ‘अब 2024 में वोटबंदी होने वाला है। 2016 में मोदी जी ने 50 दिन का समय मांगा था, आज 7 साल हो गए हैं, क्या कालाधन खत्म हुआ? अब RBI 2000 रुपए बंद कर रहा है… उन्होंने इस बार खुद नहीं बोला बल्कि RBI से बुलवाया। बंदूक RBI के कंधे से चलेगी, प्रधानमंत्री के कंधे से नहीं। नोटबंदी करने से कुछ नहीं होगा। जो कर्नाटक में हुआ वह 2024 में फिर होगा। आप 10 साल से लोगों को गुमराह कर रहे हैं। रास्ते में 140 लोग मर गए उसका ज़िम्मेदार कौन है? देश के प्रधानमंत्री हैं।’

सूत्रों के अनुसार, समझा जाता है कि सीबीआई अधिकारियों ने टीएमसी नेता से सवाल किया कि स्कूल भर्ती घोटाले के एक आरोपी कुंतल घोष ने क्यों आरोप लगाया है कि उन पर उनका नाम लेने के लिए दबाव डाला जा रहा है। माना जा रहा है कि अभिषेक बनर्जी ने कहा कि उन्हें घोष के बयान के पीछे के कारणों की कोई जानकारी नहीं है। टीएमसी नेता बनर्जी का नाम घोटाले में एक आरोपी कुंतल घोष द्वारा दर्ज कराई गई एक शिकायत में सामने आया था। घोष ने आरोप लगाया है कि केंद्रीय एजेंसियां उन पर भर्ती घोटाले में उनका अभिषेक बनर्जी का नाम लेने का दबाव बना रही हैं।

बनर्जी ने सीबीआई को लिखे पत्र में कहा, ‘मैं शुरू से कहता रहा हूं कि मैं यह जानकर हैरान हूं कि यह नोटिस मुझे 19 मई 2023 की दोपहर भेजा गया, जिसमें मुझे 20 मई 2023 को पूर्वाह्न 11 बजे कोलकाता में आपके कार्यालय में पेश होने का निर्देश दिया गया है, मुझे इसका अनुपालन करने के लिए पूरे एक दिन का भी वक्त नहीं दिया गया।’ इस बात पर जोर देते हुए कि वह पश्चिम बंगाल के लोगों से जुड़ने के लिए दो महीने की लंबी राज्यव्यापी यात्रा पर हैं, लेकिन अभिषेक ने कहा कि उन्होंने सीबीआई जांच में पूर्ण सहयोग करने के लिए समन का अनुपालन करने का फैसला किया है।

उन्होंने लिखा कि वह ‘भारत के माननीय उच्चतम न्यायालय के समक्ष एक विशेष अनुमति याचिका दायर करने पर विचार कर रहे हैं, जिसमें दिनांक 18 मई 2023 के आदेश कलकत्ता उच्च न्यायालय द्वारा पारित को चुनौती दी जाएगी।’ इस बात पर जोर देते हुए कि वह पश्चिम बंगाल के लोगों से जुड़ने के लिए दो महीने की लंबी राज्यव्यापी यात्रा पर हैं, लेकिन अभिषेक ने कहा कि उन्होंने सीबीआई जांच में पूर्ण सहयोग करने के लिए समन का अनुपालन करने का फैसला किया है।इससे पहले सुबह इस मामले में प्रवर्तन निदेशालय

ईडी ने तृणमूल कांग्रेस टीएमसी के शीर्ष नेताओं के करीबी सुजय कृष्ण भद्र के आवास पर स्कूल नौकरी घोटाले संबंधी अपनी जांच के सिलसिले में छापा मारा।

केंद्रीय एजेंसी के एक अधिकारी ने बताया कि ‘कालीघाट एर काकू’ कालीघाट के चाचा के नाम से महशहूर भद्र के बेहाला स्थित आवास पर छापा मारा गया।इस बात पर जोर देते हुए कि वह पश्चिम बंगाल के लोगों से जुड़ने के लिए दो महीने की लंबी राज्यव्यापी यात्रा पर हैं, लेकिन अभिषेक ने कहा कि उन्होंने सीबीआई जांच में पूर्ण सहयोग करने के लिए समन का अनुपालन करने का फैसला किया है। पश्चिम बंगाल के विभिन्न सरकारी और सहायताप्राप्त स्कूलों में की गई कथित अवैध नियुक्तियों में संलिप्तता के संबंध में भद्र 15 मार्च को सीबीआई के सामने पेश हुए थे। सीबीआई घोटाले के आपराधिक पहलू की जांच कर रही है, जबकि ईडी स्कूलों में भर्ती में कथित अनियमितताओं में धन के लेनदेन की जांच कर रही है। बनर्जी पश्चिम बंगाल में बांकुड़ा में जनसम्पर्क कर रहे थे। उन्होंने शुक्रवार को कहा था कि वह केंद्रीय जांच एजेंसी द्वारा भेजे गए समन पर वापस कोलकाता जा रहे हैं।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments