Sunday, May 19, 2024
HomeIndian Newsदुकान में पत्थर फेंककर फोड़ी शराब की बोतलें -उमा भारती 

दुकान में पत्थर फेंककर फोड़ी शराब की बोतलें -उमा भारती 

 

नई दिल्ली : पूर्व केंद्रीय मंत्री और मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती  सोमवार ने को पत्थर फेंक कर भोपाल में एक शराब की दुकान में तोड़फोड़ की है। उमा भारती ने कैमरे की मौजूदगी में यह सब किया है। उमा भारती प्रदेश में शराबबंदी की मांग कर रही हैं और वह ऐलान कर चुकी थीं कि वो शराब दुकानों के बाहर प्रदर्शन करेंगी। भारती ने शराब की दुकान पर पत्थर फेंकने का एक वीडियो अपने ट्विटर हैंडल पर भी डाला है, जिसमें दिख रहा है कि वह कुछ लोगों के साथ एक पत्थर लेकर इस दुकान में जाती हैं. इसके बाद वह वहां रैक में पड़ी शराब की बोतलों पर इस पत्थर को पूरी ताकत के साथ फेंकती है जिससे वहां रखी कुछ शराब की बोतलें टूट जाती हैं. इसके बाद वह वहां से बाहर आ जाती हैं और चली जाती हैं. भारती ने इसका वीडियो अपने ट्विटर हैंडल पर अपलोड कर लिखा कि बरखेड़ा पठानी, आजाद नगर, बीएचईएल भोपाल में मजदूरों की बस्ती में शराब की दुकानों की शृंखला है, जो एक बड़े आहाता में लोगों को शराब परोसते हैं.’’ उन्होंने आगे लिखा, ‘यह मजदूरों की बस्ती हैं. पास में मंदिर हैं. छोटे बच्चों के स्कूल हैं. जब लड़कियां और महिलायें छतों पर खड़ी होती हैं तो शराब पिये हुए लोगों के कारण उनको लज्जित होना पड़ता है.’’उन्होंने कहा कि आज उन्होंने प्रशासन को एक हफ्ते के अंदर दुकान और आहाता बंद करने की चेतावनी दी है. इस पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए मध्यप्रदेश कांग्रेस के मीडिया समन्वयक नरेन्द्र सलूजा ने ट्वीट करके कहा कि मध्यप्रदेश में शराबबंदी अभियान शुरू करने की तीन-तीन बार तारीख देकर गायब रहीं प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती अब शराब की दुकान में खुद पत्थर बरसा रही हैं

उमा भारती का कहना है कि वह इस मसले पर प्रशासन से बात करने का कहकर पलट गई थी। सोमवार शाम 6 के आसपास बड़ी संख्या में महिलाएं ठेके पर पहुंची. उन्होंने ठेके के सामने ही खड़े होकर नारेबाजी की. विरोध प्रदर्शन कर रही महिलाओं का कहना था कि शराब दुकान के कारण घर से बाहर निकलना मुश्किल हो गया है. शाम होते ही महिलाएं घरों में कैद हो जाती हैं. तब कुछ महिलाओं ने रोते हुए बताया कि शराबी लोग शराब दुकान के पीछे खड़े होकर महिला-बच्चों की तरफ खड़े होकर लघुशंका करते हैं। महिलाओं और बच्चियों को लज्जित करते हैं। इस पर मैं दुकान की ओर मुड़ी और कर्मचारियों को शराब की बोतलों से अलग होने को कहा। पूरी ताकत से एक पत्थर शराब की बोतलों पर दे मारा। निषिद्ध और वर्जित स्थानों पर शराब की दुकानें और अहाते हैं, जिन्हें तत्काल बंद कर देना चाहिए।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments