Sunday, June 23, 2024
HomeIndian Newsबनारस पहुंची प्रियंका गांधी ने संत कबीरदास से जुड़ी पुरानी सामग्रियों...

बनारस पहुंची प्रियंका गांधी ने संत कबीरदास से जुड़ी पुरानी सामग्रियों को देखा l

 

नई दिल्ली : विधानसभा चुनाव के सातवें चरण में कांग्रेस ने अपनी पूरी ताकत झाेंक दी है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी भी बुधवार देर शाम बनारस पहुंचीं और उन्होंने कबीर मठ में रात्रि विश्राम किया। पार्टी सूत्राें की मानें तो अगले तीन दिनों तक प्रियंका कबीर मठ में ही ठहरेंगी।इसी कड़ी में शुक्रवार को कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाराणसी स्थित कबीर चौरा मठ पहुंची. वह अगले 3 दिन तक यहीं पर रहेगी. प्रियंका गांधी ने कबीरदास की मूलगादी में दर्शन किए. इस मौके पर महंत ने कबीरदास की स्मृतियों को साझा किया. माना जा रहा है कि वाराणसी में कबीर चौरा मठ को अपना ठिकाना बनाकर प्रियंका गांधी ने एक बहुत बड़ा राजनीतिक संदेश दिया है संत कबीर दास जी के सामाजिक न्याय एवं समानता के संदेश से यूपी का दलित एवं अति पिछड़ा वर्ग बहुत जुड़ाव रखता है. जहां यूपी के सांतवें फ़ेज में चुनाव होना है, उन जगहों पर अति पिछड़ी जातियों और दलितों की संख्या अच्छी-ख़ासी है. साथ ही संत कबीरदास जी का सांस्कृतिक महत्व भी बहुत है. ऐसे में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने दलित व अति पिछड़े वर्ग के अधिकारों के लिए लगातार आवाज उठाई है. उन्होंने अपने घोषणा पत्र में भी दलित व अति पिछड़े वर्ग के लिए काफ़ी दूरगामी परिणामों वाली घोषणाएं की हैं. कबीर चौरा मठ का ठिकाना प्रियंका के संघर्षों और सामाजिक न्याय को मज़बूत करने के उनके प्रयासों को लेकर एक बड़ा संदेश देगा. उत्तर भारतीय शास्त्रीय संगीत की तीन प्रमुख विधाओं क्लैसिकल गायकी, कथक नृत्य और तबले की सिद्धपीठ भी है। कबीरचौरा की संकरी जनाकीर्ण गलियों से होते हुए प्रियंका अपने चुनिंदा सहयोगियों के साथ गायन, वादन और नृत्य के तीनों अंगों के तीन प्रतिनिधि परिवारों तक पहुंची।

प्रियंका ने गुरूवार सुबह कबीरदास की मूलगादी में दर्शन किए एवं वहां मौजूद महंत से कबीरदास की स्मृतियों को साझा किया। उन्होंने कबीर के पालनहार माता-पिता नीरू-नीमा की समाधि के दर्शन किये और मठ में स्थित कबीर के बचपन और उनके व्यवसाय से जुड़ी पुरानी सामग्रियों को भी देखा। कबीरचौरा संगीत का वैश्विक केंद्र है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने ट्वीटकर कहा,” उप्र के मेरे प्यारे बहनों-भाइयों आपके वोट से उप्र का भविष्य तय होना है, प्रदेश की आने वाली पीढ़ी का भविष्य तय होना है. अपने वोट की ताकत को पहचानें और रोजगार, महंगाई कम करने, शिक्षा, स्वास्थ्य की बेहतरी, किसानों की समृद्धि, महिला सशक्तिकरण व प्रदेश की तरक्की के लिए वोट करें सिर्फ कांग्रेस ही नहीं बल्कि बीजेपी और सपा भी वाराणसी में डेरा जमा चुके हैं. यहां छठे चरण के चुनाव के बीच सातवें चरण के लिए सभी पार्टियां चुनाव प्रचार में जुट गई हैं. वाराणसी में सातवें चरण के दौरान चुनाव होना है. यहां आज रालोद प्रमुख जयंत चौधरी, सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव और पश्चिम बंगाल की सीएम एक संयुक्त रैली को संबोधित कर रहे हैं.

 

 

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments